साथ चलने का इरादा जब जवां हो जाएगा
आदमी मिल आदमी से कारवां हो जाएगा
तू किसी के पाँव के नीचे तो रख थोड़ी ज़मीं
तू भी नज़रों में सभी की आसमां हो जाएगा

© दिनेश रघुवंशी