रचनाएँ

Category: शक़ील बदायूँनी

बेक़रार कर के हमें यूँ न जाइए


ज़रा नज़रों से कह दो जी