रचनाएँ

Category: योगेश छिब्बर ‘आनन्द’

छिना न माखन, हाय


पिया दरस को मैं चली


कान्हा जी के ठौर


सौ मटकी का दाम


नैना गिरवी रख लिये


बचा पिया का रूप