रचनाएँ

जिस्म क्या है रूह तक सब कुछ ख़ुलासा देखिए

अदम गौंडवी

जिस्म क्या है रूह तक सब कुछ ख़ुलासा देखिए
आप भी इस भीड़ में घुसकर तमाशा देखिए

जो बदल सकती है इस दुनिया के मौसम का मिजाज़
उस युवा पीढ़ी के चेहरे की हताशा देखिए

जल रहा है देश, ये बहला रही है क़ौम को
किस क़दर अश्लील है संसद की भाषा देखिए

मत्स्यगंधा फिर कोई होगी किसी ऋषि का शिकार
दूर तक फैला हुआ गहरा कुहासा देखिए

VN:F [1.9.11_1134]
Rating: 8.6/10 (26 votes cast)
VN:F [1.9.11_1134]
Rating: +9 (from 9 votes)
जिस्म क्या है रूह तक सब कुछ ख़ुलासा देखिए, 8.6 out of 10 based on 26 ratings

3 Responses to “जिस्म क्या है रूह तक सब कुछ ख़ुलासा देखिए”

  1. 1
    RAJU SAH Says:

    kya khub kahi hai zanab ne….

    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: 0.0/5 (0 votes cast)
    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: -1 (from 1 vote)
  2. 2
    Nishith Ranjan Tiwari Says:

    present time me apka vichar bahut hi prasangik hai. Thaks.

    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: 0.0/5 (0 votes cast)
    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  3. 3
    Nishith Ranjan Tiwari Says:

    present time me apka vichar bahut hi prasangik hai. Thanks.

    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: 0.0/5 (0 votes cast)
    VA:F [1.9.11_1134]
    Rating: 0 (from 0 votes)

Leave a Reply