शरद पूर्णिमा

शरद पूर्णिमा

चिराग़ जैन

शरद रात्रि का चंद्रमा, किसे सुनावे पीर।
ना जमन में नीर है, ना अंगना में खीर॥

Leave a Reply