रचनाएँ

Tag: Life

यूँ तो यारो थकान भारी है


एक पल के लिये मन द्रवित तो हुआ


मेरे मन-मिरगा नहीं मचल


कितना बेपरवा था वो


उस पार न जाने क्या होगा


मनुष्य


प्लानर


ज़िन्दगी की चादर


संकल्प सफलता से बड़ा होता है


अंतिम साँस तक


किरदार


खाली पन्ना


अपनी आवाज़ ही सुनूँ कब तक


यथोचित


सागर का उपहास


चिन्तन


एक नज़र में प्यार


स्मृतियाँ


छोड़ गाँव का घर


बच्चे अब हुशियार