नाम : निकुंज शर्मा
जन्म : 2 अक्टूबर 1993 (बृजघाट, हापुड़)
शिक्षा : एमबीए (मानव संसाधन)

प्रकाशन
द्वार पर हैं गीत आये (गीत संग्रह) सन्मति पब्लिशर्स, हापुड़; 2016

निवास : ग़ाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश


हिन्दी गीत की सबसे नई पीढ़ी को निकुंज शर्मा के रूप में एक ऐसा नवांकुर प्राप्त हुआ है जिसने अपनी आभा से पूरी बगिया की ध्यान आकृष्ट कर लिया है। उनके गीतों की रवानी और उसमें भाषा का अक्षुण्ण प्रवाह उनके अंतस से फूटते गीत झरने को अपने समय के अन्य सभी गीत स्रोतों से अधिक मीठा बनाने में सक्षम हैं। निकुंज काव्य को दुरूह भाषा शैली से लादने में विश्वास नहीं करते अपितु उसे सहज बोलचाल की भाषा से सिंगार कर जनसुलभ कराने की साधना करते हैं।