श्रद्धा जैन

श्रद्धा जैन

shrddha2

8 नवंबर 1977 को मध्य प्रदेश की धरती पर आँखें खोलने वाली श्रद्धा जैन का वास्तविक नाम शिल्पा जैन है। विदिशा (मध्य प्रदेश) की धरती की सौंधी ख़ुशबू में बचपन गुज़ारने वाली श्रद्धा जी ने एजूकेशन मास्टर्स इन केमिस्ट्री की डिग्री हासिल की। वर्तमान में आप सिंगापुर के एक अंतरराष्ट्रीय विद्यालय में हिंदी अध्यापन का कार्य कर रही हैं। इंटरनेट पर उपलब्ध रचनाकारों में जिनकी ग़ज़लियात को निरंतर प्रशंसा मिल रही है, उनमें श्रद्धा जैन का नाम प्रमुख है।
आपकी ग़ज़लियात में जहाँ सादगी है वहीं अहसासात की हल्की सी छुअन भी है। आपका लेखन संबंधों की ऊष्मा से जीवंत भी है और संवेदना की ओस से नम भी। बिना किसी लाग-लपेट के सीधे-सीधे अपनी बात कहने में आप दक्ष हैं। ग़ज़ल की साधना के दौरान आपने कहीं भी पेचीदग़ी और विद्वत्ता प्रदर्शित करने का प्रयास नहीं किया है। आम आदमी की ज़ुबान में उसके मन की बात कहना आपके लेखन की विशेषता है।
श्रद्धा जी इस समय हर उस प्रयास के साथ हैं जो तकनीक और साहित्य के मध्य पुल निर्माण का कार्य कर रहा है।

श्रद्धा जैन की रचनाएँ पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें