कुलदीप ‘आज़ाद’

कुलदीप ‘आज़ाद’

untitleduntitled1

5 अक्टूबर सन् 1983 को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में जन्मे कुलदीप ‘आज़ाद’ नेगी युवा पीढ़ी के बेहद सशक्त रचनाकार हैं। उनकी रचनाओं की शक्ति है संवेदना। बेबाक़ सत्य को उद्धाटित करती उनकी बेहद बारीक़ रचनाएँ शिल्प और व्याकरण के तमाम क़ायदों को ताक़ पर रखकर सामने आती हैं। जनसंचार में स्नातकोत्तर स्तर के शिक्षाध्ययन के साथ-साथ कुलदीप वर्तमान में पूर्णतया सामाजिक कार्यों में संलग्न हैं।
कुलदीप की रचनाओं में जीवन की बेहद आम सी बातें इतनी सादगी से आकार लेती हैं कि ख़ास बन जाती हैं। आपकी रचनाएँ और आपका व्यक्तित्व दोनों ही बिना किसी लाग-लपेट के वास्तविकता से सामना करने में सक्षम हैं।

कुलदीप ‘आज़ाद’ की रचनाएँ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें