कवि-परिचय

पद्मिनी शर्मा

padmini

13 दिसम्बर 1989 को जन्मी पद्मिनी शर्मा का बचपन काव्य और साहित्य की परिधियों में बीता। हिन्दी में स्नातक करने के साथ-साथ पद्मिनी ने संगीत तथा भरतनाटयम की भी विधिवत शिक्षा ली। पद्मिनी छोटी उम्र से ही काव्य रचना करने लगी थीं। बेटी की संवेदना से लेकर नारियों के प्रति समाज में व्याप्त विडम्बनाओं तक तमाम विषयों पर पद्मिनी के मुक्तक और गीत मुखर हो उठते हैं। मानवीय संवेदना तथा भारतीय संस्कृति की मूलभूत प्रवृत्तियाँ, पद्मिनी की रचनाओं में सहज उतर आती हैं। विद्यार्थी जीवन से ही पद्मिनी अपनी प्रतिभा के दम पर अनेक पुरस्कार प्राप्त कर चुकी थीं।
हाल ही में पद्मिनी वैवाहिक जीवन में प्रविष्ट हुई हैं।

पद्मिनी शर्मा की रचनाएँ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply