कवि-परिचय

JATINDER PARWAZ जतिन्दर परवाज़

parwaaz1

25 फरवरी 1975 को पठानकोट (पंजाब) के पास एक गाँव शाहपुर कंडी में जन्मे जतिन्दर परवाज़ ने स्नातक स्तर तक विधिवत् शिक्षाध्ययन किया। हिंदी, पंजाबी, उर्दू तथा अंग्रेजी भाषाओं में आप पारंगत हैं। देश-विदेश के हिंदी तथा उर्दू के संकलनों एवम् पत्र-पत्रिकाओं में आपकी ग़ज़लियात प्रकाशित होती रहती हैं। तमाम मुशायरों और कवि-सम्मेलनों के साथ-साथ आकाशवाणी तथा दूरदर्शन पर भी आप निरंतर शिरक़त करते रहते हैं।
वर्तमान में आप देश की राजधानी दिल्ली के एक समाचार-पत्र में कार्यरत हैं। आपकी शायरी बहुत तेज़ी से लोकप्रियता के मक़ाम हासिल कर रही है। रदीफ़ों के नए प्रयोग करने में आप माहिर हैं और तग़ज़्ज़ुल को क़ायम रखते हुए आपकी ग़ज़लियात बह्रो-वज़्न के मापदंड पर ख़री उतरती हैं।
नौजवान नस्ल के सबसे मशहूर शायरों में आपका नाम शुमार होता है। पत्रकारिता और शायरी से जो वक़्त बचता है उसको आप अनुवाद और प्रकाशन संबंधी कार्यों में ख़र्च करते हैं।

जतिन्दर परवाज़ की रचनाएँ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply