गुल दीजिए न गुलदस्ता जनाब इन्हें
न ही कोई फूलों वाला हार दे के देखिए
हीरे न जवाहरात, सोने-चांदी की सौग़ात
और न ही महंगा उपहार दे के देखिए
चार लम्हे सहेज वेलेन्टाइन वाले दिन
अपनों की प्रीत को सिंगार दे के देखिए
बदले में आपको दुआएँ मिलेंगीं हज़ार
थोड़ा-सा बुज़ुर्गों को प्यार दे के देखिए

© चरणजीत चरण