नाम : विशाल बाग़
जन्म : 25 मई  1982; कश्मीर
शिक्षा : बी.ई. (इलैक्ट्रॉनिक्स एन्ड टेलीकॉम)

निवास : गुरुग्राम

विशाल बाग़ की ताज़ा प्रविष्टियाँ


कश्मीर की खूबसूरती का एहसास कराती विशाल बाग़ की शायरी में एक ऐसा नयापन है जो अन्यत्र कहीं देखने को नहीं मिलता. मूलतः विशाल एक अभियंता हैं लेकिन मशीनी दिनचर्या से घिरे इस सुख़नवर के एहसास बेहद नाज़ुक और ताज़ा हैं. संवेदना के उस मुक़ाम तक विशाल की शायरी सफर कराती है जहाँ आश्चर्य और सुकून एक साथ आ मिलते हैं. बचपन के खुशनुमा मंज़रों को अशआर में पिरो देने का हुनर विशाल की सबसे ख़ास दौलत है. इश्क़ की मीठी चुभन इन अशआर को संवारती है तो ज़िन्दगी के मसाइल में शामिल धड़कनो की आवाज़ से इनका नूर हज़ार गुना बढ़ जाता है.