ANAND PRAKASH MAHESHWARI आनन्द प्रकाश माहेश्वरी

ANAND PRAKASH MAHESHWARI आनन्द प्रकाश माहेश्वरी

anand-prakash-maheshwari

आपका जन्म सन् 1961 में हुआ। अजमेर, जयपुर, कोटा आदि में अपनी स्कूली शिक्षा पूर्ण करके आपने दिल्ली विश्वविद्यालय के श्रीराम कॉलेज से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। पोद्दार इन्स्टीटयूट से एम बी ए किया। वर्ष 1984 में आप भारतीय पुलिस सेवा में सचनित हुए। अनेक नगरों में पुलिस प्रमुख के रूप में कार्य करके मानवीय जीवन के विभिन्न स्वरूपों एवं घटनाक्रमों से साक्षात्कार करने का आपको अवसर प्राप्त हुआ।

साम्प्रदायिकता जैसे महत्त्वपूर्ण एवं संवेदनशील विषय पर आपकी पहली पुस्तक अंग्रेजी भाषा में ‘कम्यूनलिज्म हैंडल्ड विद ए डिफरेंस’ प्रकाशित हुई। तदुपरांत उसका हिन्दी रूपांतरण ‘साम्प्रदायिकता : समाधान के स्वरूप’ प्रकाशित हुआ। पुलिस व जनजीवन से जुड़े कटु अनुभवों को तात्विक एवं सात्विक अनुभूतियों पर परखते हुए आपने ‘बीसवीं सदी की बीस कहानियाँ’ के नाम से बहुचर्चित पुस्तक प्रकाशित की। ‘कुछ पल विषाद के कुछ पल आनन्द के’ आपका पहला काव्य संग्रह है।

साम्प्रदायिकता एवं प्रबंध रणनीतियों पर नवीन शोध के फलस्वरूप वर्ष 2002 में आपको डॉक्टरेट की उपाधि दी गई। प्रबंध एवं पुलिस विषयों पर आपके अनेक लेख विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहे हैं।

साभार: आनन्द प्रकाश माहेश्वरी के काव्य संग्रह ‘कुछ पल विषाद के कुछ पल आनन्द के’ से

आनन्द प्रकाश माहेश्वरी की रचनाएँ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें